अब नालों से निकल रहे शव, गगनविहार में मिली 2 लाश

दिल्ली गुरूवार 27 फरवरी 2020 नागरिकता संशोधन कानून (CAA) के विरोध में जली दिल्ली अब कुछ शांत है। अर्द्धसैनिक बलों ने बीती रात हिंसाग्रस्त इलाकों में फ्लैग मार्च किया, वहीं सुबह शांत रही। हालांकि तनाव कायम है। लोग डरे हुए हैं। पुलिस और सुरक्षा बल किसी तरह की ढील देने के मूड में नहीं हैं। इस बीच, मृतकों आंकड़ा 35 पहुंच गया हैज़ीटीबी अस्पताल के चिकित्सा निदेशक डॉक्टर सुनील कुमार के मुताबिक जीटीबी में अभी तक 30 लोगों की मौत हो गई है। इनमें इलाज के दौरान 8 लोगों की मौत हुई है। विवेक जिसको ड्रिल लगी थी वो ठीक है। आज आने वाले घायलों की संख्या कम है। रात में दो घायलों को लाया गया था।
सोमवार से लेकर अब तक 200 के करीब घायल भर्ती हुए थे इनमें अधिकांश को छुट्टी दे दी गई है। फिलहाल 53 घायल अस्पताल में भर्ती हैं। इनमें एक की हालत ठीक नहीं है। घायलों में ज्यादातर गन शॉट्स और धारदार हथियार से घायल हैं।हिंसाग्रस्त इलाकों में आज शांति, लेकिन दुकानें बंददिल्ली के हिंसाग्रस्त जाफराबाद, मौजपुर, चांद बाग, गोकलपुरी और भजनपुरा समेत आसपास के इलाकों में गुरुवार को माहौल शांत है। पुलिस और अर्धसैनिक बलों के जवान गलियों में फ्लैग मार्च कर रहे हैं। ज्यादातर इलाकों में दुकानें बंद हैं और सड़कें सुनसान हैं। ऐसे माहौल में लोग घरों में ही रहना पसंद कर रहे हैं। उधर, दिल्ली फायर सर्विस को बुधवार रात से गुरुवार सुबह तक उत्तर-पूर्वी दिल्ली में आग की 19 कॉल मिलीं। 100 दमकलकर्मियों के साथ वरिष्ठ अधिकारी आग बुझाने में जुटे हैं।
पोस्टमॉर्टम में देरी, परिजनों को शव मिलने का इंतजारवहीं, लोगों को हिंसा में मारे गए परिजन के शव लेने के लिए इंतजार करना पड़ रहा है। पुलिस-प्रशासन का कहना है कि पोस्टमॉर्टम के बाद ही बॉडी दी जाएगी, तब तक इंतजार करें। इस मामले में जीटीबी अस्पताल के मेडिकल सुपरिंटेंडेंट सुनील कुमार ने कहा, ''पोस्टमॉर्टम करने के लिए बोर्ड गठित करने की जिम्मेदारी दिल्ली पुलिस और स्वास्थ्य विभाग के ऊपर है। हमने 4 पोस्टमॉर्टम किए हैं, जिनके मामले गंभीर थे। उम्मीद है कि जल्द ही इसके लिए बोर्ड बना लिया जाएगा।'' इस मामले में वकील महमूद पारचा ने दिल्ली हाईकोर्ट में याचिका दायर की। कोर्ट इस पर शुक्रवार को सुनवाई करेगा।
मोदी ने हिंसा के 3 दिन बाद शांति की अपील कीइससे पहले हिंसा के 3 दिन बाद बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लोगों से शांति-भाईचारे की अपील की थी। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा- हिंसा प्रभावित इलाकों में सेना तैनात की जाए। एनएसए अजीत डोभाल ने लगातार दूसरे दिन हिंसाग्रस्त सीलमपुर और मौजपुर का दौरा किया था। यहां कानून व्यवस्था का जायजा लिया और इलाके में लोगों से बातकर उन्हें सुरक्षा का भरोसा दिया था। इससे पहले मोदी कैबिनेट की मीटिंग भी हुई थी।

 
 
Advertisment
 
Important Links
 
Important RSS Feed
MP Info RSS
Swatantra Khat RSS
 
वीडियो गेलरी




More
 
फोटो गेलरी
More
 
हमारे बारे में हमसे संपर्क करें      विज्ञापन दरें      आपके सुझाव      संस्थान      गोपनीयता और कुकीज नीति    
Copyright © 2011-2020 Swatantra Khat