राहुल गांधी रिहा,राजस्‍थान की सीमा में पीड़ित किसान परिवारों से मिले

ध्यप्रदेश के मंदसौर में पुलिस फायरिंग में पांच किसानों की मौत के बाद लोगों का गुस्सा उबाल पर है। गुरुवार को राहुल गांधी मंदसौर में पीड़ि‍त परिवारों से मिलने जा रहे कांग्रेस उपाध्‍यक्ष राहुल गांधी को पुलिस द्वारा ऐहतियातन गिरफ्तार कर लिया गया। हालांकि इसके बाद उन्‍हें जमानत मिल गई।  पुलिस ने उन्‍हें इस शर्त पर पीड़ि‍त परिवारों से मिलने की इजाज़त दी कि वो राजस्‍थान की सीमा में उनसे मिलेंगे। रिहाई के बाद राहुल गांधी  नीमच की सीमा से 18 किलोमीटर दूर राजस्थान में राहुल गांधी को मृतक के परिजनों से मिलाया गया। राहुल ने उन्हें हर संभव मदद करने का आश्वासन दिया। प्रशासन से अनुमति के बाद राहुल को परिजनों से मिलने दिया गया। यह मुलाकात ग्राम डिनवा में हुई। उन्होंने किसानों से कहा आप अपनी दिक्‍कत बताइये हम अापकी मदद करने के लिए तैयार हैं। इसके बाद उन्‍होंने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि यहां लोगों पर गोली चलाई गई, लेकिन सरकार ने कहा कि गोली नहीं चलाई गई। सरकार झूठ बोल रही है। यहां मैं पीड़ि‍त से मिलने आया हूं तो इसमें क्‍या गलत है।  मैं आरएसएस का आदमी नहीं हूं।  मैं देश में कहीं भी जा सकता हूं। उन्‍होंने कहा कि यूपी, मध्‍यप्रदेश, राजस्‍थान, तमिलनाडु और अन्‍य कई जगहों पर किसान परेशान हैं।  भाजपा की सरकार के पास लाखों करोड़ रुपया पड़ा है, लेकिन वो उसे किसानों को न देकर सिर्फ 50 लोगों को देना चाहती है। 


आपको बता दे कि इससे पूर्व राहुल गांधी ने ट्वीट कर कहा कि ''मारे गए किसानों के परिवारों से फोन पर बात की और अपनी संवेदना प्रकट की. मैं यहां उनसे मिलने आया हूं और उनकी परेशानियों को लेकर आवाज़ उठाने से पीछे नहीं हटूंगा''। 

 
 
Advertisment
 
Important Links
 
Important RSS Feed
MP Info RSS
Swatantra Khat RSS
 
वीडियो गेलरी




More
 
फोटो गेलरी
More
 
हमारे बारे में हमसे संपर्क करें      विज्ञापन दरें      आपके सुझाव      संस्थान      गोपनीयता और कुकीज नीति    
Copyright © 2011-2022 Swatantra Khat